गांव के सार्वजनिक चोक का नाम शहीद रणजीतसिंह के नाम से किया

सादुलपुर (राजेश राजपूत)। गांव नीमा में देश की रक्षा के लिए शहादत देने वाले अमर शहीद शौर्य चक्र लांस नायक रणजीतसिंह गौड़ के नाम से शहीद दिवस पर गांव के सार्वजनिक चोक का नाम शहीद रणजीतसिंह के नाम से किया है। सरपंच मानसिंह रेबारी तथा वीरांगना किरण कंवर ने चोक का लोकार्पण किया गांव के प्रतापसिंह राठौड़ साजिद अली, महेन्द्रसिंह गौड़ तथा मोहनसिंह गौड़ ने बताया कि ग्रामीणों ने सर्वसम्मति से निर्णय कर सार्वजनिक चोक का नाम शहीद के नाम से किया है। ताकि आने वाली भावी पीढियों को शहीदांे की शहादत का ज्ञान मिल सके। महेन्द्रसिंह गौड़ ने बताया कि अमर शहीद शौर्य चक्र लांस नायक रणजीत सिंह गौड़ ने 20 अगस्त 1958 को गांव के रामनिवास गौड़ के घर माता विमला देवी की कोख से जन्म लिया तथा 18 अक्टूबर 1977 को थल सेना की 15 कुमाऊं रेजीमेंट इंदौर से सेवा प्रारंभ की थी तथा लेह-लद्दाख, मनाली मंे अपनी सेवाएं दी।

शहीद रणजीतसिंह ने छह जून 1984 को आॅपरेषन ब्लू स्टार अमृतसर पंजाब में अपने अदम्य साहस, शौर्य, वीरता एवं बहादूरी का परिचय देते हुए आतंकवादियों को मौत के घाट उतारते हुए अपने प्राणों को मातृभूमि के लिए न्यौछावर कर दिया तथा वर्ष 1984 में ही इस वीरतापूर्ण कार्य के लिए भारत सरकार ने शहीद रणजीतसिंह को शौर्य चक्र से सम्मानित किया था। वहीं गांव नीमा में शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

You might also like