जिले की पहचान है शहीदों की गौरवगाथा से : सांसद खीचड़

 

 

खेतड़ी (ईश्वर अवाना)। बेसरड़ा गांव में शनिवार को कारगिल शहीद रामकरण सिंह के 23 वें शहादत दिवस के अवसर पर शहीद की प्रतिमा का अनावरण समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सांसद नरेंद्र खीचड़ मौजूद थे। विशिष्ट अतिथि सूरजगढ़ विधायक सुभाष पूनिया, भाजपा जिलाध्यक्ष थे। अध्यक्षता इंजी. धर्मपाल गुर्जर ने की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सांसद नरेंद्र खीचड़ ने कहा कि झुंझुनू जिले की पहचान शहीदों की गौरव गाथा से होती है।

झुंझुनू जिले की मिट्टी में शौर्य की एक ऐसी कहानी लिखी हुई है, जिससे यहां का हर युवा सरहद की रक्षा के लिए हंसते हंसते अपने देश के लिए कुर्बान हो जाता है। देश की सुरक्षा में सबसे ज्यादा सैनिक शेखावाटी में झुंझुनू जिले ने दिए हैं। जिसमें सबसे अधिक शहादत प्राप्त करने का गौरव भी जिले को है। शहीद हमारे लिए पूजनीय होते हैं, हमें हर मंगल कार्य को शुरू करने से पहले इनका ध्यान रखना चाहिए।

 

युवाओं के लिए देश की रक्षा में शहादत देने वाले बहादुर नौजवान एक प्रेरणा स्रोत होते हैं, जिससे युवा पीढ़ी को आगे बढऩे के लिए प्रेरित करते हैं। कार्यक्रम के दौरान अतिथियों ने शहीद की प्रतिमा का अनावरण कर वीरांगना संतोष देवी को शाल ओढ़ाकर सम्मान किया। शहीद रामकरण सिंह 4 जून 1999 को कारगिल दुश्मनों से लोहा लेते हुए देश के लिए वीरगति को प्राप्त हो गए थे।

 

कार्यक्रम में लोक गायक जयवीर भाटी एंड पार्टी की ओर से देश भक्ति के गीतों का कार्यक्रम पेश किए गए। प्रतिमा अनावरण कार्यक्रम में शहीद के सम्मान में युवाओं ने गांव में तिरंगा यात्रा निकाली। इस मौके पर नांगल चौधरी विधायक अभय सिंह यादव, सैन समाज जिलाध्यक्ष डॉ बीएल वर्मा, प्रभू गुर्जर राजोता, विजनेस गुर्जर, मुकेश सैन, पूर्व सरपंच शिवताज सिंह, जगदीश मास्टर, ओम प्रकाश सैन, रामनिवास सैन, जगदीश सैन, नाहर सिंह सरपंच नांगलिया, शिवलाल सिंह शेखावत बसई, रोहिताश, महेंद्र छावड़ी, राजकुमार, सत्यवीर सिंह सैन सहित कई ग्रामीण उपस्थित थे।

You might also like
You cannot print contents of this website.