कड़ी सुरक्षा के बीच अजमेर पहुंची राहत की वैक्सीन

आजमेर (दिलीप शर्मा)। कोरोना वैक्सीन के लंबे समय से इंतजार कर रहे शहरवासी की घड़ी शुक्रवार को खत्म हो गई गुरुवार को चिकित्सा विभाग की विशेष टीम की निगरानी व कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच जयपुर के स्टेट वैक्सीन स्टोर से 8000 वाइल यानी 22 हजार डोज की पहली खेप अजमेर पहुंची। वैक्सीन के अजमेर पहुंचने पर संयुक्त निदेशक डॉ. इन्द्रजीतसिंह, जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ के के सोनी सहित चिकित्सा अधिकारियों ने पंडित से विधिवत पूजा अर्चना कराई। इसके बाद जयपुर से आई टीम का स्वागत किया गया। वहीं ईश्वर से भी जल्द कोरोना वायरस से खात्मे को लेकर प्रार्थना की। शुक्रवार को अजमेर के जेएलएन चिकित्सालय मेें शुभारम्भ होगा ।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि करीब 8000 वाइल की पहली खेप कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच गुरुवार को अजमेर पहुंच गई इसके लिए सीएमएचओ कार्यालय में 5 फ्रीजर में दो से 8 डिग्री तापमान में रखी गई है  शुक्रवार को जिले के 7 सेन्टर्स पर 700 हैल्थ वर्कस का  टीकाकरण होगा। जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय से वेक्सीनेशन का शुभारम्भ किया जाएगा। इसके लिए चिकित्सा विभाग ने सभी तैयारियां पुरी कर ली है।

सोनी ने बताया कि शुक्रवार को जिले के 7 सेन्टर्स पर 700 हैल्थ वर्कस का  टीकाकरण होगा। पहले चरण में अजमेर में करीब 20,220 हैल्थ वर्कर्स चिह्नित किए गए है। 170 वैक्सीनेशन टीमों का गठन कर 15 को रिजर्व में रखा गया है। पहले चरण के टीकाकरण में चिकित्सक स्वास्थ्य कार्यकर्ता, पैरामेडिकल स्टाफ, लैब टेक्नीशियन, फार्मासिस्ट रेडियोग्राफर, अस्पताल के सहायक कर्मचारी, वार्ड बॉय, आशा सहयोगिनी कार्यकर्ता आदि शामिल होंगे। जेएलएन अस्पताल के यूरोलॉजी विभाग परिसर में वैक्सीन सेंटर पर जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित, मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल डॉ वी बी सिंह , अस्पताल अधीक्षक डॉ अनिल जैन, जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ के के सोनी आदि शुभारंभ करेंगे। वैक्सीन की सुरक्षा के लिए पुख्ता बंदोबस्त किए गए है। जिला वैक्सीन स्टोर पर पुलिस पहरा लगाया गया है।

आईएलआर में रखी गई वैक्सीन:

वैक्सीनेशन टीम से जुड़े विशेषज्ञों के अनुसार कोविशील्ड वैक्सीन की वाइल को फ्रिज के पेंदे में न रखकर फ्रीजर के बीचो बीच तीन जालियां बनाई गई है जो एक तरह से टोकरी का काम करती है इन जालियों में वाइल्ड के बॉक्स रख दिए गए हैं ताकि फ्रीजर के बीच में तापमान एक समान रहे।

You might also like