उपेक्षित, अवहेलित की सेवा ही सामाजिक कल्याण

घासीराम वर्मा समाज सेवा समिति ने किया अभिनंदन

चूरू (पीयूष शर्मा). राजस्थान विश्वविद्यालय सिंडिकेट के पूर्व सदस्य प्रो. एचआर ईसराण ने कहा कि सामाजिक कल्याण की अवधारणा वस्तुत: उपेक्षित और अवहेलित वर्ग के उत्थान के प्रति ही होती है।

वे मधुर स्पेशल शिक्षण संस्थान में घासीराम वर्मा समाज सेवा समिति की ओर से संस्थान संचालिका अंजु नेहरा के अभिनंदन समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। प्रो. ईसराण ने कहा कि समाज में जो तबका दोयम दर्जे पर माना जाता रहा है उसको साथ लेकर आगे बढऩा ही समग्र उत्थान है। वहीं मानसिक और शारीरिक रूप से भेदभाव के शिकार वर्ग की सेवा नारायण सेवा ही है। इस युग में जो ऐसी सेवा करने में लगा है। वह दुनिया का सर्वश्रेष्ठ कार्य संपादित कर रहा है। दिव्यांग वर्ग के लिए अंजु नेहरा द्वारा किया जा रहा काम सराहनीय व अनुकरणीय है। कार्यक्रम संयोजक दलीप सरावग ने कहा कि स्वामी गोपालदास स्मृति आयोजन में घासीराम वर्मा को अर्पित पुरस्कार के क्रम में अंजु नेहरा का यह सम्मान घासीराम वर्मा का बड़प्पन है।

वे इसके लिए साधुवाद के पात्र हैं। घासीराम वर्मा द्वारा महिला उत्थान के काम में एक योग्य महिला का यह सम्मान है। प्रारंभ में अतिथियों ने शॉल-श्रीफल व 11 हजार रुपए नकद भेंट कर अंजु नेहरा का अभिनंदन किया। हनुमानाराम ईसराण ने भी अपनी ओर से नेहरा को 11 हजार रुपए का चेक भेंट किया। इस मौके पर समिति प्रतिनिधि साहित्यकार दुलाराम सहारण व उम्मेद गोठवाल भी मौजूद थे। संचालन गिरधारी लाल नेहरा ने किया।

You might also like