मोदी जी चाय पीने वाले इधर है, आपका ध्यान किधर

झुंझुनू (जितेंद्रसिंह)। जुनून देशभक्ति का हो या समाज सेवा का या फिर आपदा में लोगों को सुविधाएं मुहैया कराने का आखिर जुनून वही होता है जो सिर चढक़र बोले। ऐसा ही जुनून लिए युवा व्यवसाई झुंझुनू निवासी विनय टीबड़ा ने राजस्थान में 10 मई से लागू हुए लॉकडाउन की समस्त पाबंदियों के बावजूद भी जिला प्रशासन के कर्मियों सहित कोरोना को जंग में मात देने की सोच रखने वाले योद्धाओं को सुबह से शाम तक नींबू की चाय पिलाकर अपनी एक अलग पहचान बनाई है। युवा व्यवसायी टीबड़ा ने एक मुलाकात में बताया कि ऐसा कोरोना की प्रथम लहर में जब आमजन को घरों में ही रहना पड़ रहा था और प्रतिदिन दिनचर्या में व्यस्त रहने वाले व्यवसायी को घर में रहना पड़ जाए तो समय व्यतीत करना दूभर हो जाता है। ऐसे में हम दो दोस्तों ने कोरोना से जंग लड़ रहे जिला प्रशासन के कर्मियों व अन्य जो योद्धाओं की सेवा करने का मानस बनाया ऐसा क्या किया जाए कि उन्हें निरंतर ऊर्जा मिलती रहे कोरोना वायरस को हराने में तब से ही जिला प्रशासन के कर्मियों को नींबू की चाय उनके कार्यस्थल पर जाकर पिलाने की मन में ठानी और उसे परिणीति में बदलते हुए दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बना लिया।

शुरुआत में असहज लगा फिर आने लगा मजा
सेवाभावी विनय टीबड़ा ने बताया कि चाय पिलाने कि जब शुरुआत की तब पहले एक-दो दिन तो बड़ा असहज सा महसूस हुआ लेकिन जल्द ही झुंझुनू जिला प्रशासन के कर्मियों व कोरोना योद्धाओं तथा आमजन ने सेवा की इस मुहिम को सराहना करते हुए इसे निरंतर जारी रखने के लिए प्रेरित किया तो देखते ही देखते आपदा काल मे नींबू की चाय पिलाने में मजा आने लगा साथ ही अनेक प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा पीठ थपथपाने से और अधिक ऊर्जा का संचार होने लगा।

मोदी जी हम इधर हैं आपका ध्यान किधर है
केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद उनसे जुड़े चाय का कनेक्शन जबसे चर्चित हुआ है तबसे देश भर में आमजन चाय व्यवसाय से जुड़े लोगों से चाय के नाम पर हास्य विनोद करते रहते हैं इसी तरह का वाक्या नींबू की चाय पिलाने वाले विनय के साथ भी हुआ। उन्होंने बताया कि हर रोज समयानुसार हर कार्मिक विभाग में जाकर चाय पिलाने में एक दिन किसी वजह से देरी हो गई। जैसे ही कार्यस्थल परिसर में पहुंचा तो वहां उपस्थित अधिकारी, कर्मचारियों ने मजाक करते हुए कहा आज मोदी जी आपका ध्यान किधर है चाय पीने वाले तो इधर हैं।

तकरीबन 500 लोगों को मुहैया होती रही नींबू की चाय
कोरोना योद्धाओं की थकान मिटाने व ऊर्जा का संचार बरकरार रखने के लिए सुबह से शाम तक नींबू की चाय नियमित रूप से नि:शुल्क सेवा देने वाले विनय टीबड़ा ने बताया कि कोरोना की दूसरी लहर के चलते जिला मुख्यालय के कलेक्ट्रेट, जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय, एसडीएम कार्यालय, तहसील, आयकर, भ्रष्टाचार निरोधक, सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालयों सहित थाना सदर, कोतवाली व जिला परिवहन विभाग कार्यालयों के तकरीबन 500 कर्मियों को प्रतिदिन नींबू की चाय मुहैया कराई जा रही थी जिसे मंगलवार को राज्य सरकार द्वारा अनलॉक की घोषणा के बाद विराम दिया जा रहा है भविष्य में फिर आवश्यकता हुई तो वही थर्मस, कप और नींबू की चाय तैयार मिलेगी।

You might also like