रेमडेसिविर की ब्लैक मार्केटिंग गिरोह का मास्टर माइंड एमबीबीएस डॉक्टर गिरफ्तार

जयपुर (हिन्द ब्यूरो)। पुलिस उपायुक्त जयपुर उत्तर देशमुख परिस अनिल ने बताया कि दिनांक 21.04.2021 को पुलिस थाना कोतवाली क्षेत्र के फिल्म कालोनी दवा बाजार में मयूर टावर में दक्ष डिस्ट्रीब्यूटर के मालिक रामावतार यादव को महंगे दामों पर रेमडेसिविर की कालाबाजारी करते हुए गिरफ्तार किया गया था। तत्पश्चात गिरोह के अन्य सदस्य शंकर दयाल सैनी व विक्रम सिंह गुर्जर को भी गिरफ्तार किया गया था। उक्त तीनों अभियुक्त अभी न्यायिक अभिरक्षा में चल रहे हैं।

इस गिरोह का मास्टर माईण्ड एक एमबीबीएस डाक्टर जितेश अरोडा घटना के बाद ही मोबाईल बंद करके फरार चल रहा था। डॉ जितेष अरोडा की तलाश हेतु धर्मेन्द्र सागर अति पुलिस उपायुक्त जयपुर उत्तर द्वितीय, मेघचन्द मीना सहायक पुलिस आयुक्त कोतवाली के निर्देशन एवं विक्रम सिंह चारण पुनि थानाधिकारी थाना कोतवाली जयपुर के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया।

दिनांक 27.05.2021 को हेमन्त जनागल उप निरीक्षक, छीतर मल, बिषन सिंह को डॉ जितेश अरोडा की तलाश हेतु गुडग़ंाव व फरीदाबाद रवाना किया गया था। मुल. घटना के बाद से गिरफ्तारी के भय से बार-बार अपने मोबाईल नम्बर व लोकेशन बदल रहा था जिस पर पुलिस उपायुक्त जयपुर उत्तर के कार्यालय के मनोज कुमार कानि व थाना कोतवाली के विजय कुमार कानि से तकनीकी सहयोग प्राप्त किया गया।

पुलिस टीम द्वारा डॉ जितेश अरोडा की तलाश गुड़गांव के कोलम्बिया एशिया हॉस्पीटल में की गई परन्तु टीम पहुंचने से पहले ही आरोपी वहां से फरार हो गया। पुलिस टीम द्वारा गुड़गांव से फरीदाबाद तक पीछा कर अभियुक्त डॉ जितेश अरोडा को फरीदाबाद से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। अभियुक्त डॉ जितेश अरोडा पुलिस थाना मुरलीपुरा के प्रकरण में भी वांटेड है। अभियुक्त ने प्रारम्भिक पूछताछ में कोरोना महामारी आपदा को अवसर में बदलते हुए जयपुर में करीब एक हजार रेमडेसिविर वायल की ब्लैक मार्केटिंग महंगे दामों पर अपने गिरोह के अन्य सदस्यों के मार्फत करना स्वीकार किया है।

अभियुक्त के द्वारा एक हजार रू में रेमडेसिविर क्रय कर तीन-चार गुणा दामों में आगे विक्रय किया है। रेमडेसिविर के प्राप्ति स्रोत, राजस्थान व अन्य राज्यों में अन्य किन-किन व्यक्तियों को सप्लाई किया है के बारे में विस्तृत अनुसंधान जारी है।अभियुक्त जितेश अरोडा ने वर्ष 2017 में चिरायु मेडिकल कालेज भोपाल से एमबीबीएस की है तथा वर्तमान में कोलम्बिया एशिया हास्पीटल गुडगांव में तीन वर्षीय मेडिकल इमरजेंसी कोर्स का फाईनल ईयर का स्टूडेंट है।

You might also like