शहीद का राजकीय सम्मान के साथ हुआ अन्तिम संस्कार

झुंझुनू (जितेंद्रसिंह)। शेखावाटी का एक ओर लाडला अपने देश के लिए शहीद हो गया है। लद्दाख में तैनात 90 आर्म्ड में लांस नायक विक्रम सिंह नरूका ने अपने प्राण देश के लिए न्यौछावर कर दिए। उदयपुरवाटी क्षेत्र के गांव भोड़की के विक्रम सिंह 2002 में सेना भर्ती हुए थे, गत 27 फरवरी को उनकी लद्दाख में टैंक पलटने के कारण मौत हो गई थी।

2 मार्च को शाम उनका शव झुंझुनू पहुंचा और बुधवार को झुंझुनू से उनके पैतृक गांव ले जाया गया। जहां उनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उन्हें सेना और पुलिस की तरफ से गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया, वहीं जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग, जिला कलेक्टर उमरदीन खान, सांसद नरेन्द्र कुमार, उदयपुरवाटी विधायक राजेन्द्र गुढ़ा, जोधपुर शहर विधायक मनीषा पंवार, पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी, जिला प्रमुख हर्षिनी कुलहरी ने भी शहीद विक्रम सिंह को पुष्पचक्र अर्पित किया।

इससे पहले गुढागौडज़ी से भोड़की तक ग्रामीणों की ओर से डीजे और बाईक रैली का आयोजन किया गया, जिसमें शहीद को ऐतिहासिक विदाई देने के लिए हजारों की संख्या में जनसमूह शामिल हुआ। शहीद का पार्थिव शव उनके घर पहुंचने के बाद परिवारजनों की ओर से सामाजिक रिवाज सम्पन्न करने के बाद शहीद को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। अंतिम विदाई में पुरूषों के साथ गांव की महिलाओं, स्कूली विद्यार्थियों ने भी भाग लिया और शहीद के जयकारे लगाये।

शहीद विक्रम सिंह को उनके 10 वर्षीय पुत्र हर्ष सिंह एवं मानवेन्द्र सिंह ने मुखाग्नि दी। शहीद के पार्थिव शरीर के साथ आए उनके साथी रिसलदार ओमप्रकाश ने बताया कि मिलनसार व्यक्तित्व के धनी विक्रम सिंह शनिवार की रात साथियों के साथ रात्रि पेट्रोलिंग में टैंक लेकर निकले थे। अंधेरे के कारण टैंक फिसलकर पलट गया और विक्रम टैंक के नीचे दबने से शहीद हो गए थे।

You might also like