बीमा क्लेम के लिए कलक्ट्रेट पर पड़ाव की तैयारी में किसान सभा

बैठक में लिया निर्णय, प्रदर्शन कर जताया आक्रोश

चूरू (पीयूष शर्मा). किसानों को उनका बकाया बीमा क्लेम दिलाने के लिए किसान सभा ने प्रशासन व सरकार के खिलाफ कलक्ट्रेट पर अनिश्चितकालीन धरने के रूप में पड़ाव डालने की तैयारी कर ली है।

दबे पांव एक बार फिर दस्तक देते कोरोना के इस दौर में किसान संगठनों की ये रणनीति प्रशासन और सरकार के माथे पर चिंता की लकीरें बढ़ाने वाली है। बता देें कि गुरुवार दोपहर जिला मुख्यालय पर हुई अखिल भारतीय किसान सभा की बैठक में बकाया बीमा क्लेम की मांग को लेकर आगामी सात अप्रेल से कलक्ट्रेट के आगे अनिश्चितकालीन धरना शुरू करने का निर्णय लिया जा चुका है।

बैठक के बाद कलक्ट्रेट के आगे एकत्रित हुए किसान सभा से जुड़े किसानों ने बकाया बीमा क्लेम को लेकर आज प्रदर्शन किया। इस दौरान किसान सभा के प्रदेश कमेटी सदस्य निर्मल प्रजापत ने बताया कि 2017-2018 से लेकर रबी 2019-20 के क्लेम की लड़ाई किसान पिछले एक साल से लड़ रहा है। 2017-2018 का पूरा क्लेम बकाया पड़ा है। इसे लेकर किसान आंदोलित हैं।

जिलाध्यक्ष इंद्राजसिह व जिलामंत्री उमराव सारण ने देशभर में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर प्रस्तावित भारत बंद का समर्थन करने का आह्वान किया। बाद में प्रतिनिधिमंडल ने कलक्टर से वार्ता कर बकाया क्लेम सहित किसान हितों से जुड़े अनेक मुद्दों पर चर्चा की।

वार्ता के बाद तहसील प्रभारी रामकृष्ण छिम्पा ने बताया कि क्लेम की लड़ाई जारी रहेगी। सात अप्रेल को किसान कलक्ट्रेट के आगे अनिश्चित कालीन शुरू करेगी। धरने की सफलता के लिए जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में जनसंपर्क किया जाएगा।

You might also like