108 में गूंजी किलकारी, एंबुलेंस कर्मियों ने जुड़वां बच्चों की कराई डिलीवरी

 

खेतड़ी (ईश्वर अवाना)। अक्सर देखने में आता है कि गर्भवती महिला की जब प्रसव पीड़ा अधिक बढ़ जाती है तो वह कहीं भी बच्चे को जन्म दे देती है। ऐसे में ना कोई डॉक्टर होता है ना ही कोई अस्पताल जहां जैसी सुविधा उपलब्ध होती है नवजात का जन्म हो जाता है। कई बार 108 एंबुलेंस में भी डिलीवरी हो जाती है। लेकिन खेतड़ी 108 एंबुलेंस के ईएमटी सुभाष व चालक महेश गुर्जर ने अपनी सूझबूझ का परिचय देते हुए जुड़वा बच्चों की डिलीवरी करवा दी। मामला शनिवार सुबह करीब सवा 6 बजे का है जब एंबुलेंस कर्मियों के पास गर्भवती महिला का केस आया तो एंबुलेंस लेकर उपखंड के अजीतपुरा गांव पहुंचे।

जहां पर ईट भट्टे पर यूपी से काम करने आई महिला नगमा के प्रसव पीड़ा हो रही थी। इस दौरान आईएमटी सुभाष व महेश गुर्जर ने तत्काल महिला को 108 में शिफ्ट कर नजदीक पडऩे वाले अस्पताल नीमकाथाना का रूख किया लेकिन रास्ते में महिला के प्रसव पीड़ा अधिक होने पर उसने एक नवजात को जन्म दिया लेकिन महिला के और अधिक पीड़ा होने लगी इस दौरान एंबुलेंस को भी तीव्र गति से लेकर दोनों कार्मिक नीमकाथाना राजकीय अस्पताल में पहुंचे जहां गेट पर ही नगमा ने एक और बच्चे को जन्म दे दिया। दोनों कार्मिकों ने अपने सूझबूझ का परिचय देते हुए दोनों डिलीवरी सकुशल करवा कर महिला को नीमकाथाना के अस्पताल में भर्ती करवाया जहां तीनों की हालत ठीक बताई जा रही है।

You might also like
You cannot print contents of this website.