झुंझुनू पुलिस ने शातिर नकबजन गैंग का किया खुलासा

झुंझुनू (जितेंद्रसिंह)। शहर में दिन व रात्रि के समय सूने मकानों में चोरी की वारदातें हो रही थी। चोरी की वारदातें मकान मालिक किसी कार्य से बाहर जाते ही या प्रवासी लोगों के सूने मकानों में हो रही थी। वारदातों की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी ने इनकी रोकथाम तथा जल्द खुलासे हेतु वृत्ताधिकारी लोकेन्द्र दादरवाल के सुपरविजन व थानाधिकारी कोतवाली मदन लाल कड़वासरा के नेतृत्व में थाना कोतवाली की टीम गठित की गई। थानाधिकारी कोतवाली के नेतृत्व में गठित टीम द्वारा चोरी की वारदातों के तरीके से शक हुआ कि रेकी की जाकर सूने मकानों को निशाना बनाया जा रहा है। पूर्व में चालानशुदा चोरी के आरोपियों से भी पूछताछ की गई। इस दौरान पता चला कि झुग्गियों में रहने वाले गुजराती जाति के लोग पुराने कपड़े के बदले बर्तन बेचने का काम करते हैं जो इस बहाने दिन में मकानों की निगरानी करते हैं तथा सूना मकान मिलने पर उसे निशाना बनाते है। टीम के सदस्य नीरज कानि. की सूचना पर शातिर नकबजन श्रीराम पुत्र प्रभुराम लुहार निवासी सीतसर थाना सदर झुंझुनू, अजय पुत्र संपत फूलमाली निवासी शाही बाग अहमदाबाद हाल किरायेदार साहूवाले कुए के पास झुंझुनू, कालू पुत्र दलीप निवासी कारवा चौक जूनागढ़ हाल हवाई पट्टी झुंझुनू, अजय पुत्र रमेश निवासी कडी कलोल हाल साहूवाले कुँए के पास झुंझुनू, रोहित पुत्र रमेश निवासी कडी कलोल हाल साहूवाले कुए के पास झुंझुनू को नकबजनी के सामान सरिया, रोड, कटर सहित गिरफ्तार कर व एक बाल अपचारी को निरूद्ध कर शातिर नकबजन गैंग का खुलासा करते हुए चोरी व नकबजनी के 10 से अधिक मामलों का खुलासा करने में सफलता हासिल की। आरोपी श्रीराम लुहार के पास धारदार हथियार चाकू भी बरामद हुआ। पूछताछ में आरोपियों ने साल भर में झुंझुनू शहर में अलग-अलग स्थानों पर 10 से अधिक वारदातें करना बताया है। इनके द्वारा सूने मकानों से गहने, नकदी, बर्तन, टीवी, कम्प्यूटर, गैस चूल्हे, मोबाईल फोन की चोरिया अलग-अलग स्थानों से की गई। ये लोग गैंग बनाकर काम करते हैं।

वारदात के लिए पहले बर्तन बेचने के बहाने घूमकर सूने मकान ढूंढते हैं उसके बाद गैंग के सदस्य चोरी करते हैं तथा इन्हीं के साथी कपड़े व गहने दिल्ली में ले जाकर बेचते हैं ताकि किसी पर शक न हो। वारदात में चोरी किए गए सामान को ठिकाने लगाने का काम इनके घर के सदस्य भी करते हैं जिनकी तलाश जारी है। आरोपीगण पहले भी चोरी की वारदातों में गिरफ्तार हो चुके हैं। ये लोग झुग्गियों में रहते हैं। गिरफ्तार व्यक्तियों ने मकान भी किराये पर ले रखें हैं परन्तु मकान मालिकों द्वारा पूछताछ में बताया गया कि उनके द्वारा सत्यापन नहीं करवाया गया न ही नाम पते तस्दीक करवाये गए।

You might also like