अवैध बजरी खनन : दो एलएनटी मशीन जब्त कर दो गिरफ्तार

खेतड़ी (नरेंद्र स्वामी)। अवैध बजरी खनन के खिलाफ कार्रवाई करते हुए खेतड़ी पुलिस ने 2 पोपलेन (एलएनटी) मशीन को जब्त कर एलएनटी चालक व एक मालिक को गिरफ्तार किया है। थाना अधिकारी सुरेंद्र देगड़ा ने बताया कि संभागीय आयुक्त समित शर्मा ने झुंझुनू आगमन पर अवैध बजरी खनन के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के दिशा निर्देश दिए थे। जिस पर पुलिस अधीक्षक झुंझुनू मनीष त्रिपाठी ने खेतड़ी क्षेत्र में कई स्थानों पर अवैध बजरी खनन के खिलाफ अलग-अलग टीमें बनाकर कार्रवाई करने के दिशा निर्देश दिए।

जिस पर खेतड़ी पुलिस उप अधीक्षक विजय कुमार के नेतृत्व में थाना अधिकारी सुरेंद्र कुमार, राजेंद्र सिंह, कैलाश कुमार, दिनेश कुमार, संदीप कुमार, चोखाराम, दिनेश कुमार, राजेश कुमार, नेमीचंद, संगीता, अभिषेक, अशोक की अलग-अलग टीमें बनाकर रात्रि गस्त कर उचित जानकारी जुटाई गई।

दिनेश कुमार ने उच्च अधिकारियों को सूचना दी कि कांकरिया- नोरंगपुरा में एलएनटी मशीन के द्वारा अवैध बजरी खनन किया जा रहा है बजरी खनन करते हुए खनन माफियाओं ने 100 फुट से भी अधिक गहरे खड्डे जगह-जगह खोद रखे हैं और कई दर्जनों पेड़ काटकर पर्यावरण को भी नुकसान पहुंचाने हैं।जिस पर रविवार सुबह पुलिस की अलग-अलग टीमों ने कांकरिया नदी व नोरंगपुरा के आसपास छापेमारी कार्रवाई की और 2 पोपलेन मशीन जब्त कर मनोज तथा रामअवतार को गिरफ्तार कर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

खनन माफियाओं के मुखबिर बैठे रहते थे चाय की थड़ी पर, कार्रवाई से पहले ही कर देते थे सूचित
अवैध बजरी खनन माफियाओं से मुखबिर आस-पास के गांव में चाय और पान की थड़ी पर बैठे रहते थे थाना अधिकारी सुरेंद्र देगड़ा ने बताया कि मुखबिरो के माध्यम से खनन माफियाओं को कार्रवाई से पूर्व ही सूचना मिल जाती थी। टीम पहुंचने पर मौके से फरार हो जाते थे लेकिन इस बार पुलिस कप्तान मनीष त्रिपाठी के दिशा निर्देशानुसार अलग-अलग टीमें बनाकर छापामार कार्रवाई की गई और मशीन सहित दो लोगों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल हुई।

अवैध बजरी खनन के साथ पेड़ों को काटकर पर्यावरण को भी पहुंचा रहे थे नुकसान
अवैध बजरी खनन माफिया बजरी खनन तो कर ही रहे थे साथ-साथ रास्ते में खड़े हरे पेड़ों को भी उन्होंने नहीं बख्शा। मौके पर दर्जनों कटे हुए पेड़ मिले हैं थाना अधिकारी ने बताया कि इन पेड़ों को भी काट कर खनन माफिया तस्करी कर रहे थे इसके लिए वन विभाग को भी सूचित कर दिया गया है। साथ ही खनन करते हुए खनन माफियाओं ने बिजली के बड़े-बड़े संयंत्रों के आसपास की मिट्टी भी काट डाली जिससे बड़ा हादसा होने की संभावना है।

You might also like