गहलोत सरकार का तानाशाही निर्णय लोकतंत्र के लिए उचित नहीं: सारस्वत

जयपुर महापौर सौम्या सहित पार्टी पार्षदों के समर्थन में भाजपा का विरोध प्रदर्शन

चूरू (पीयूष शर्मा). भाजपा के प्रदेशव्यापी आह्वान पर पार्टी पदाधिकारियों ने मंगलवार सुबह कांग्रेस सरकार की ओर से की गई जयपुर नगर निगम (ग्रेटर) की महापौर सौम्या गुर्जर सहित तीन पार्षदों की बर्खास्तगी को अलोकतांत्रिक करार देते हुए कांग्रेस सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

चूरू नगर मंडल अध्यक्ष दीनदयाल सैनी के नेतृत्व में लामबंद हुए पार्टी कार्यकर्ताओं ने नगर परिषद के सामने काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान भाजपा राष्ट्रीय परिषद सदस्य ओम सारस्वत ने कहा कि गहलोत सरकार का ये तानाशाही भरा निर्णय लोकतंत्र के लिए उचित नहीं है। भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य डा. वासुदेव चावला ने कहा कि प्रदेश सरकार का ये अलोकतांत्रिक निर्णय संविधान विरोधी है। पूर्व जिलाध्यक्ष बसंत शर्मा ने कहा कि कांग्रेस का लोकतंत्र पर विश्वास ही नहीं है। मंडल अध्यक्ष दीनदयाल सैनी ने बताया कि संपूर्ण प्रदेश में लोकतंत्र की हत्या के विरोध में सभी कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया।

इस दौरान सभी कार्यकर्ताओं ने विरोध स्वरूप काली पट्टी बांधकर राज्य सरकार के इस अलोकतांत्रिक कृत्य के प्रति विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन करने वालों में जिला महामंत्री नरेन्द्र काछवाल, जिला प्रमुख प्रतिनिधि इंजीनियर रवि आर्य, जिला प्रवक्ता सुशील लाटा, जिला अल्पसंख्यक मोर्चा अध्यक्ष अख्तर खान, जिलामंत्री विनोद सैनी, पार्षद घनश्याम अलवरिया, मंडल महामंत्री सुनील खटीक, युवा नेता मदन गोपाल बालान, भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष सूर्यप्रकाश ढाका, अरुण शर्मा, मंडल आईटी संयोजक अशोक तंवर, मंडल मीडिया संयोजक अजय तंवर, जिला मीडिया संयोजक रवि दाधीच, इमरान व आबिद हुसैन आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

You might also like