सुरंग बनाकर करोड़ों रूपये की चांदी की चोरी करने के आरोप में चार गिरफ्तार

जयपुर (हिन्द ब्यूरो)। 24 फरवरी को परिवादी सुनीत सोनी पुत्र गुलाब चन्द सोनी ने दर्ज कराया कि मैने मेरे मकान के बैसमैन्ट की फर्श में सुरक्षार्थ चान्दी की सिल्लियां रखी गई थी। जिनकी जरूरत पडऩे पर मैने फर्श को तुड़वाकर देखा तो लोहे के बॉक्स में रखी चान्दी गायब मिली जिसको बाहर निकाल कर देखा गया तो बॉक्स कटर से काटा हुआ था तथा मेरे मकान के उत्तर दिशा में एक सुरंगनुमा खड्डा बना है आदि पर अभियोग पंजीबद्ध किया जाकर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया।

नकबजनी की इतनी बड़ी व शातिराना तरिके से की गई वारदात का खुलासा करने के लिये राय सिंह बेनीवाल सहायक पुलिस आयुक्त वैशालीनगर के नेतृत्व में टीम गठित की गई। गठित टीम द्वारा मौके पर एफएसएल टीम की मदद से साक्ष्य संकलन किये गये, सीसीटीवी फुटेज को गहनता से खंगाले जाकर व तकनीकि मदद प्राप्त की जाकर मुल्जिमान की तलाश की गई।

दौराने अनुसंधान सामने आया कि परिवादी के साथ शेखर अग्रवाल निवासी बी. 05 राम मार्ग श्यामनगर जयपुर, जिसकी बड़ी चौपड़ पर एनजे बुलियन व नारायण लाल जग्गी लाल सर्राफ  तथा सिटी पल्स में बोरला के नाम से सोने चान्दी की ट्रेडिंग की दुकान है के साथ परिवादी के पारिवारिक एवं व्यवसायिक सम्बन्ध व आपसी विश्वास होने के कारण मुख्य आरोपी शेखर अग्रवाल ने परिवादी से बड़े पैमाने पर स्वयं की फर्मों से परिवादी व उसके परिजनो को चान्दी में करोड़ों रूपये का निवेश करवाया । स्वयं के द्वारा ही परिवादी को उक्त चान्दी लाकर दी तथा उसके मकान के बैस मैन्ट में अपने भान्जे जतिन जैन तथा अपने आदमी केदार जाट, कालू राम सैनी की मदद से फर्श में लोहे के बॉक्स रखवाकरव फर्श में दबाकर उसमें चान्दी रखवायी।

परिवादी के मकान की रैकी की जाकर परिवादी के मकान के पीछे के अर्ध निर्मित भूखण्ड को शेखर अग्रवाल ने अपने सहयोगी आरोपी बनवारी लाल जांगिड़ को योजना में शामिल करते हुये उसके नाम से क्रय किया गया जिसका 97 लाख रूपये का भुगतान शेखर अग्रवाल द्वारा किया जाकर उक्त मकान में सुरंग बनाकर अन्य साथी अभियुक्तों कालू राम सैनी, रामकरण जांगिड़, केदार जाट व अन्य की मदद से हैमर व ग्रेन्डर, फावडे व ड्रिल मशीन व खुदाई के अन्य औजारों की मदद से सुरंग बनाकर चान्दी की सिल्लियों को फर्श में दबे लोहे के बॉक्स को काटकर चोरी कर ली गई है।

तरीका वारदात

आरोपी शेखर अग्रवाल के द्वारा परिवादी से पारिवारिक सम्बन्धों व विश्वास का फायदा उठाकर षडयन्त्रपूर्वक आयकर विभाग की रैड का भय दिखाकर परिवादी व उसके परिजनों को बड़े पैमाने पर चान्दी में इन्वैस्ट करने के लिये उकसाया उसके पश्चात स्वयं द्वारा ही परिवादी को सिल्वर की सिल्लियां दी जाकर घर में सुरक्षित रखने के नाम पर तय जगह पर बैस मैन्ट की फर्श में लोहे का बॉक्स फिट करवाया। तत्पश्चात पीछे का भूखण्ड क्रय कर बाऊन्ड्री को टीन शैड से कवर कर अपने भान्जे जतिन जैन व अन्य लोगों को लालच देकर साजिश में शामिल करते हुये उक्त भूखण्ड में से सुरंग खोदकर परिवादी के मकान में जमीन के नीचे से प्रवेश कर कटर से लोहे का बॉक्स काटकर उक्त चान्दी की सिल्लियां चुराकर बाजार में व्यापारियों को विक्रय कर दी गई।

आरोपी जतिन जैन जो रिश्ते में शेखर अग्रवाल का भान्जा है व उसकी फर्म में काम करता है द्वारा अपने मामा के साथ मिलकर परिवादी को शेखर अग्रवाल द्वारा दिलाई गयी सिल्वर की सिल्लियों को आरोपी शेखर के साथ साजिश में शामिल होते हुये परिवादी के घर सिल्लिया रखवायी तथा रखने के स्थान की रैकी की जाकर खाली भूखण्ड में सुरंग खोदने व सिल्लियों को चौरी करने व विक्रय करने में मदद की। जतिन जैन पूर्व में भी बैंकॉक से सोने की तस्करी में अपनी मां सरिता जैन के साथ नेपाल में गिरफ्तार हुआ है।

आरोपी बनवारी लाल जांगिड़  निवासी गांव टोडा मीणा थाना जमवारागढ जिला जयपुर ग्रामीण हाल प्लॉट नं .03 बाला जी विहार फूल वाडी आमेर कुण्डा थाना आमेर जिला जयपुर उत्तर द्वारा उक्त मामले में शेखर अग्रवाल व जतिन जैन के बाद महत्वपूर्ण भूमिका में जिसके द्वारा शेखर अग्रवाल के रूपयो से स्वयं के नाम से 97 लाख रूपये में भूखण्ड खरीदकर सुरंग खोदने के लिये सामान व मैन पावर उपलब्ध कराया जाकर अपने सुपरविजन में सुरंग जो की लगभग 26 फिट लम्बी व 10 फिट गहराई पर 26 लम्बी व 03 फिट चोडी अन्य लोगों की मदद से सुरंग खोदकर चान्दी की सिल्लियां निकालकर शेखर अग्रवाल के सुपुर्द की।

आरोपी कालू राम सैनी निवासी 350 पुराना बगराना माली की कोठी आगरा रोड जयपुर थाना कानोता जयपुर पूर्व जो पिछले कई वर्षो से शेखर अग्रवाल की फर्म एनजे बुलियन एवं नारायण दास जग्गीलाल सर्राफ  बड़ी चौपड पर काम करता है तथा शेखर अग्रवाल की साजिश में शामिल होते हुये खाली भूखण्ड में सुरंग खोदने में मदद की साथ ही चान्दी की सिल्लियों को खाली भूखण्ड से शेखर की गाड़ी में रखवायी तथा उक्त सिल्लियों को शेखर अग्रवाल व जतिन जैन के निर्देशन में बाजार में विक्रय की गयी ।

आरोपी केदार जाट निवासी गाँव लुहारा, तहसील निवाई, पुलिस थाना निवाई, जिला-टोंक हाल. प्लॉट नं बी-5, राम मार्ग, श्यामनगर, सोडालाए पुलिस थाना श्यामनगर जिला जयपुर जो पिछले कई वर्षों से एनजे बुलियन एवं नारायण दास बड़ी चौपड पर काम करता है साथ ही शेखर अग्रवाल की पर्शनल गाड़ी पर ड्राईवरी भी करता है तथा ज्यादातर शेखर अग्रवाल के घर पर भी रहता है। तथा उसका घरेलू काम भी देखता था परिवादी को शेखर अग्रवाल द्वारा दिलवायी गयी सिल्वर की सिल्लियों को परिवादी के मकान में रखवाने के बहाने परिवादी के मकान की रेकी की गई तथा शेखर अग्रवाल की साजिश में शामिल होते हुये खाली भूखण्ड में सुरंग सोदने में मदद की साथ ही चान्दी की सिस्तियों को शेखार अग्रवाल व जतिन जैन के साथ में कारसे शिफ्ट कर उनको विवाय करने व शुर्द करने में मदद की गई।

आरोपी रामकरण जांगिड़ निवासी प्लॉट. 04 वाला जी विहार प्रथम फूलवाडी पीली तलाई आमेर थाना आमेर जिला जयपुर उत्तर जो बनवारी लाल पड़ौसी व पेशे से कारपेन्टर हैं ने आरोपी बनवारी के कहने पर मैन पावर उपलब्ध कराया व उनकी मदद से सुरंग खोदी व कटर व गें्रडर से लोहे का बक्षा काटकर चान्दी की सिल्लियां निकाल कर शेखर अग्रवाल व जतिन अग्रवाल की कार में रखवायी व बदले में 5 लाख रूपये प्राप्त किये गये। प्रकरण के मुख्य आरोपीगण शेखर अग्रवाल व जतिन जैन जो फरार हो गये हैं जिनकी सरगर्मी से तलाश जारी है एवं मुल्जिमान से पूछताछ में अन्य सहायक आरोपीगणों की दस्तयाबी एवं चौरी गये माल की बरामदगी के सम्बन्ध में प्रयास जारी है।

You might also like