शादीशुदा महिला के प्रेमी संग भागने से नाराज परिवार ने महिला को जलाया

सरदारशहर (कुलदीप राव, ब्रह्मभट्ट)। शहर के वार्ड नंबर 3 में पिता ने परिवार के साथ मिलकर अपनी ही बेटी को पेट्रोल डालकर जला देने का मामला सामने आया है। मामला 26 फरवरी के शाम का है। बेटी की जान का दुश्मन बाबूल ही बन गया। बेटी का दोष इतना था कि शादीशुदा होने के बाद प्रेमी संग भागकर दूसरी शादी कर ली थी। जिससे नाराज था पूरा परिवार।

प्रेमी के संग भागने की सजा परिवार के लोगों ने मिलकर बेटी पर पेट्रोल डालकर जला दिया। जिससे 95 प्रतिशत जली महिला को राजकीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां पर डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार कर उसे बेकानेर रैफर कर दिया था। बीकानेर में इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई।

राजकीय अस्पताल में महिला ने पुलिस को बयान में अपने पिता सहित परिवार के 10 लोगों के खिलाफ जलाने का पर्चा बयान दिया था। उसी के आधार पर पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू की थी कि 2 दिन बीकानेर में भर्ती रही महिला की इलाज के दौरान मौत हो जाने के बाद पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर महिला के एक भाई को पुलिस ने गिरफ्तार किया है अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस जुटी हुई है।

आपको बता दें की शहर के वार्ड 3 की जलायी गयी महिला कौशल्या की बीकानेर पीबीएम अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गयी। थाने के एसआई जसवीर कुमार ने बताया कि शनिवार को प्रात: महिला ने अन्तिम सांस ली। पीबीएम पुलिस चौकी से सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस बीकानेर पहुंची और मृतका का पोस्टमार्टम करवाकर लाश परिजनो के सुपुर्द कर दिया गया। इससे पूर्व शुक्रवार को महिला के न्यायिक मजिस्ट्रेट ने 164 में ब्यान लिए थे। गुरुवार को सायं बुरी तरह से जलने पर राजकीय अस्पताल लाया गया था। जहां चिकित्सकों ने तुरंत उपचार जारी किया।

जहां पुलिस ने राजकीय अस्पताल में महिला के बयान लिए जिस पर पीडि़ता ने अपने पिता शिशपाल, मां सुनिता, मामा दर्शन, भुआ कमलादेवी, भाई नरेश, सुभाष, विनोद तथा ताऊ नत्थू द्वारा पेट्रोल डालकर जलाने की जानकारी देने पर पुलिस ने सभी के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला देर रात्रि को दर्ज किया गया था। महिला की हालत ज्यादा खराब होने के कारण बीकानेर रैफर कर दिया गया था। शनिवार को महिला की मौत होने पर अब पुलिस ने हत्या का मामला मानते हुए जांच शुरू की है।

You might also like