हर वर्ग को चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने का होगा प्रयास : डॉ. जायसवाल

कोटा (योगेश जोशी)। विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर आईएमए कोटा की ओर से बुधवार को विशाल निशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन आरएसी ग्राउंड रावतभाटा रोड कोटा (आॅक्सीजोन एरिया) पर किया गया। चिकित्सा शिविर में आरएसी जवानों सहित उनके परिवार व अन्य लोग लाभांवित हुए। 120 लोगों को चिकित्सकीय परामर्श दिया गया वहीं निशुल्क दवाओं का वितरण भी किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जय यादव आईपीएस कमांडेंट आरएसी द्वितीय बटालियन, जबकि अध्यक्षता डॉ. विजय सरदाना, प्राचार्य एवं नियंत्रक राजकीय मेडिकल कॉलेज कोटा थे, विशिष्ट अतिथि पवन जैन, आरएसी डिप्टी कमांडेंट कोटा व आईएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉ. एस सान्याल व सहायक कमांडेंट हेमंत गौतम रहे। शिविर के दौरान डॉ. विजय सरदाना ने कहा कि चिकित्सा शिविर में मरीजों के उपचार, परामर्श व निशुल्क जांचों के अलावा कोरोना महामारी की रोकथाम को लेकर भी विशेष प्रयास किए जाने की आवश्यकता है। कोविड के खतरों से बचने के लिए सरकार की गाइड लाइन की पूर्णरूप से पालना आवश्यक है। आईएमए अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने कहा कि चिकित्सा शिविर में बीपी, शुगर व अन्य जांचे निशुल्क की गई। डॉ. संजय जायसवाल ने कहा कि कोटा में हर वर्ग को चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध हो सके ऐसा आईएमए की ओर से प्रयास किया जाएगा। निर्धन व अंतिम व्यक्ति तक सुलभ व गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी हम सभी की है। डॉ. जायसवाल ने कहा कि स्वयंसेवी संस्थाओं को भी आगे आना चाहिए और निर्धन व्यक्तियों को सरकार की मेडिकल सुविधाओं का लाभ पहुंचाने के लिए प्रेरित करना चाहिए।
इस वर्ष विश्व स्वास्थ्य दिवस की थीम  ह्यह्यएक निष्पक्ष, स्वस्थ दुनिया का निर्माणह्णह्ण है, इस थीम पर भी कार्य करने का प्रयास आईएमए द्वारा किया जाएगा। शिविर में उपस्थित चिकित्सकों को प्रतीक चिन्ह देकर एवं माला पहनाकर सम्मानित किया गया। आईएमए की ओर से आयोजित विशाल निशुल्क चिकित्सा शिविर में डॉ. अविनाश बंसल, डॉ. केवल कृष्ण डंग, डॉ अंशु सरदाना डॉ. ज्योति डंग, डॉ. योगेश गौतम, डॉ. जुझर अली, डॉ. राहुल सतीजा, डॉ. जितेन्द्र पाराशर, डॉ. रूपेश पंवार, डॉ.यशस्वी गौतम, डॉ. दीपक खण्डेलवाल, डॉ. नितिन दत्ता, डॉ. दीपक गुप्ता सहित कई चिकित्सकों ने अपनी सेवाएं दी और कोविड से बचाव के लिए हमेशा मास्क लगाने, सेनेटाइजर का उपयोग करने, सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करने व अनावश्यक घर से नहीं निकलने के लिए जागरूक भी किया और कोविड-19 के दुष्परिणाम भी बताए।
You might also like