डॉ. गिरीश माथुर बने एपीआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष

कोटा (योगेश जोशी)। एसोसिएशन आॅफ फिजिशियन्स आॅफ इंडिया (एपीआई) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के हुए चुनाव में कोटा के वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. गिरीश माथुर को निर्विरोध अध्यक्ष निर्वाचित किया गया है। राजस्थान  में डॉ. माथुर के अध्यक्ष बनने पर हर्ष की लहर है। एपीआई देश के विशेषज्ञ फिजिशियन्स चिकित्सकों की राष्ट्रीय संस्था है, जिसमें मेडिसिन में एमडी की डिग्री प्राप्त विशेषज्ञ इसके सदस्य होते हैं, पूरे देश में इस संस्था के करीब 22 हजार सदस्य हैं। एपीआई के चुनाव में डॉ. गिरीश माथुर के निर्विरोध अध्यक्ष बनने पर कोटा के चिकित्सकों में भी बेहद खुशी है। अध्यक्ष निर्वाचित होने पर डॉ. माथुर ने बताया कि देश के फिजिशियंस की समस्या, उनका समाधान व नए शोध व अत्याधुनिक तकनीक के साथ फिजिशियंस को लाभांवित करने का प्रयास किया जाएगा।

 

राजस्थान में तीसरी बार व कोटा से दूसरी बार चुने गए अध्यक्ष
डॉ. माथुर के सामने 3 प्रत्याशी मैदान में थे, जिसमें एक हैदराबाद व दो कोलकाता के थे। नाम वापसी की अंतिम तिथि तक बाकी सभी 3 प्रत्याशियों द्वारा अपना नामांकन वापस लेने पर डॉ. गिरीश माथुर को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया। जानकारी के अनुसार एपीआई के 78 वर्षों के इतिहास में राजस्थान से एपीआई के अध्यक्ष बनने वाले डॉ. गिरीश माथुर तीसरे व्यक्ति हैं, इससे पूर्व वर्ष 1962 में जयपुर के डॉ. आरएम कासलीवाल अध्यक्ष बने थे, इसके बाद सन 2018 में कोटा के वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. केके पारीक अध्यक्ष निर्वाचित हुए थे, पिछले 3 वर्ष में एपीआई जैसी प्रतिष्ठित राष्ट्रीय संस्था के अध्यक्ष निर्वाचित होने पर राज्य के फिजिशियन्स में अत्यंत हर्ष है एवं सभी ने इसे पूरे राजस्थान विशेषकर कोटा के लिए सम्मान का विषय बताया। वर्ष 2022 फरवरी में जयपुर में होने वाले राष्ट्रीय अधिवेशन में प्रेसिडेंट इलेक्ट बनने के बाद सन 2023 में अहमदाबाद में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय अधिवेशन में कार्यभार ग्रहण करेंगे। अहमदाबाद में होने वाले राष्ट्रीय अधीवेशन के दौरान होने वाले तीन दिवसीय साइंटिफिक कार्यक्रम भी डॉ. गिरीश माथुर के निर्देशन में आयोजित किया जाएगा,

 

 

जिसमें देश-विदेश के अग्रणी विशेषज्ञ चिकित्सक चिकित्सा विज्ञान में होने वाले नवीनतम शोध एवं चिकित्सा प्रक्रिया पर चर्चा करेंगे। डॉ. माथुर ने बताया कि 4 दिन चलने वाले अधिवेशन में करीब 12 हजार फिजिशियन्स भाग लेते आ रहे हैं। अपनी सफलता का श्रेय डॉ. माथुर ने राजस्थान के सभी फिजिशियंस की एकजुटता व सहयोग एवं पूर्व अध्यक्ष डॉ. केके पारीक के कुशल नेतृत्व, निर्देशन व संचालन को दिया एवं विश्वास व्यक्त किया कि वह अपने कार्यकाल के दौरान इस बात का प्रयास करेंगे कि चिकित्सा प्रणाली को किस तरह आमजन की सुविधा के लिए सुगम बनाया जाए एवं रोगियों एवं चिकित्सकों के बीच बढ़ती संवाद हीनता को दूर कर रोगियों तक विशेषज्ञ चिकित्सकों के ज्ञान की उपयोगिता को किस तरह बढ़ाया जाए। एपीआई के अध्यक्ष निर्वाचित होने पर देश के कई नामी फिजिशियंस व चिकित्सा जगत के लोगों ने डॉ. माथुर को बधाई प्रेषित की है।
You might also like