इंदिरा गांधी नहर में प्रदूषित जल प्रवाह पर रोक की मांग

टीम युवा शक्ति ने सौंपा ज्ञापन

चूरू (पीयूष शर्मा). टीम युवा शक्ति से जुड़े युवाओं ने बुधवार को कलक्टर सांवरमल वर्मा को जल संसाधन मंत्री भारत सरकार गजेंद्र सिंह शेखावत के नाम ज्ञापन सौंपकर इंदिरा गांधी नहर में प्रवाहित प्रदूषित पानी की रोकथाम के लिए कदम उठाने की मांग की।

सामाजिक कार्यकर्ता विनोद राठी के नेतृत्व में सौंपे गए ज्ञापन में लिखा गया कि पंजाब स्थित हरिकै बैराज से राजस्थान के आईएनजीपी व गंगनहर में जहरीला व कैमिकल युक्त पानी छोड़ा जा रहा है। इस पानी की सप्लाई राजस्थान के श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, बीकानेर, चूरू, बाड़मेर, जोधपुर, जैसलमेर, झुंझुनूं व सीकर जिलों में आपणी योजना के माध्यम से की जा रही है। इस पानी का उपयोग आम आदमी अपनी आवश्यकतापूर्ति के लिए करता है।

ऐसे में ये प्रदूषित पानी लाखों लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ साबित हो सकता है। कपिल चंदेल ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में प्रदूषित पेयजल की सप्लाई लापरवाही का नतीजा है। ऐसे में जरूरी है कि पंजाब की कैमिकल फैक्ट्रियों से जहरीला पानी छोड़े जाने पर शीघ्र रोक लगाई जाए। ज्ञापन देने वालों में सलीम खान, राकेश वर्मा, भानुप्रकाश सेवदा, सोनेश वर्मा, बंशीधर पंवार, मनोज पूनिया, संजय सैन व पंकज पारीक आदि उपस्थित थे।

You might also like