नहीं रहेगा कोरोना तभी खुलेगा बस्ता

कोटा (योगेश जोशी)। कीर्तांशम् दी ग्रुप ऑफ सोशल अवेयरनेस की ओर से कोरोना जागरूकता अभियान के तहत नवाचार करते हुए मंगलवार सुबह कोरोना जागरूकता प्रभात फेरी निकाली गई ।इस दौरान बगैर मास्क लगाए नजर आने वाले लोगों को  वर्तमान हालातों के चलते  मास्क पहनने की आदत को डालने के लिए प्रेरित किया गया । खास बात यह रही कि नन्हे बच्चों के द्वारा की गई समझाइश आम लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रही  और उन्होंने माना कि मास्क से बचाओ जरूरी है। संस्थान की अध्यक्ष स्नेहा श्रीवास्तव ने बताया कि जागरूकता के तहत निरंतर गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं जिसके तहत सुबह  विज्ञान नगर, तलवंडी ,महावीर नगर ,दादाबाड़ी एवं इस क्षेत्र की बस्तियों में प्रभात फेरी निकालकर कोविड-19 के तहत जारी -दिशा निर्देशों की पालना करने के लिए प्रेरित किया गया। संस्थान के उपाध्यक्ष डॉ॰ जी आर गोयल ने बताया कि आमजन को प्रभावी संदेश जाए इस लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। संस्थान की सचिव श्रीमती रेखा सैनी ने बताया कि प्रभात फेरी के पश्चात संस्थान की ओर से सार्वजनिक स्थानों पर पहुंचकर नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से आमजन को मास्क लगाने, 2 गज की दूरी और साफ सफाई रखने के लिए संदेश दिया गया। इस दौरान संस्थान की कोषाध्यक्ष किरण गौतम ,सुरेश कुमार ,उर्वशी, बाल कलाकार मोनिका ,तन्मय कृष्णा, तुषार ,सुमित एवं वर्षा ने हिस्सा लिया।
नहीं रहेगा कोरोना तभी खुलेगा बस्ता
कोरोना जागरूकता संबंधित लेखक एवं रंगकर्मी रविंद्र श्रीवास्तव द्वारा लिखित नुक्कड़ नाटक “नहीं रहेगा कोरोना तभी खुलेगा बस्ता” नुक्कड़ नाटक का चंबल गार्डन मे मंचन किया गया। नुक्कड़ नाटक के माध्यम से बच्चों ने यह संदेश दिया की कोरोना को हराना जरूरी है इसके बगैर हमारे स्कूल नहीं खुलेंगे और हम बस्ता लेकर स्कूल नहीं पहुंच पाएंगे। इसलिए उन्होंने बाल मनुहार के माध्यम से आमजन से नुक्कड़ नाटक के माध्यम से कोटा को कोरोना मुक्त बनाने के लिए नुक्कड़ नाटक के माध्यम से संदेश दिया।
You might also like