गैंगरेप का झूठा मुकदमा दर्ज करवाकर ब्लेकमेलिंग करने वाले जीजा साली गिरफ्तार

अलवर (हिन्द ब्यूरो)। महानिरीक्षक पुलिस जयपुर रेंज जयपुर तेजस्विनी गौतम जिला पुलिस अधीक्षक जिला अलवर के निर्देशानुसार व श्रीमन लाल मीना अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण जिला अलवर के पर्यवेक्षण में अमितसिंह आरपीएस वृताधिकारी ग्रामीण एवं कार्यालय टीम द्वारा प्रकरण संख्या 619/2021 धारा 376डी आईपीसी थाना सदर अलवर के मुकदमा मुस्तगीसा व उसका कथित जीजा रवि यादव को गिरफ्तार किया गया।

घटना का विवरण – मुकदमा हाजा की परिवदिया ने उप० थाना होकर एक तहरीर रिपोर्ट इस आशय की पेश की कि में दिनांक 8/9/21 को समय करीब लगभग 1.30 पीएम की घटना मेरी सहेली के पति रवि यादव के साथ घूमने आयी थी सीलीसेढ तिराहे से सीलीसेढ़ की तरफ जाते वक्त हमारी मोटरसाइकिल का तेल खत्म हो गया तो रवि तेल लेने 150, 200 मीटर दूर पट्रोल लेने चला गया इसी बीच एक फारव्हीलर गाडी आयी जिसको लिफ्ट लेने के लिए रोका वो मुझे बिठाकर सीलीसेढ़ की तरफ ले गए उन दोनो ने मेरे साथ गलत काम किया दोनो ने आधा घन्टा गाडी रोकी रही। सीलीसेढ़ वाली जगह बीचो-बीच मैने बोला मुझे उतार दो तो बोले मैडम उतार देगे रुक जाओ और जबरदस्ती दारू भी पिलाई दोनों ने बहुत ज्यादा पी रखी थी।

कार्यवाही का विवरण आदि पर मुन्न० 619 / 2021 धारा 376डी आईपीसी दिनांक 08. 09.2021 थाना सदर जिला अलवर पर पंजिबद्ध किया जाकर मन सीओ वृत्त ग्रामीण अलवर द्वारा अनुसंधान आरम्भ किया गया। दौराने अनुसंधान प्रकरण हाजा में पीडीता के बयान अन्तर्गत धारा 161 164सीआरपीसी में लेखबद्ध किये गये पीडीता के बयानों की विडियो रिकार्डिंग की जाकर सीडी शामिल पत्रावली की गई। घटना स्थल सीलीसेढ़ का नजरी निरीक्षण किया जाकर पृथक से नक्शा मौका कशीद किया गया। प्रकरण में डीटेन शुदा आरोपियान अजय जाटव व दीपक कुमार प्रजापत से तफ्तीश की गई। तथा आरोपियान द्वारा वक्त घटना प्रयुक्त वाहन को डिटेन किया गया। प्रकरण की घटना में प्रयुक्त वाहन एसेन्ट कार न० डीएल 01 सी एए 7597 व आरोपियान के घटना दिनाँक 08.09.21 को पहने पार्चेजात अण्डरवीयर एवं घटना स्थल का प्रभारी अधिकारी जिला फोरेंसिक लैब मोबाइल यूनिट अलवर से निरीक्षण कराया जाकर निरीक्षण रिपोर्ट प्राप्त की गई, जिसके अनुसार आरोपियो के अन्डरगार्मेन्टस पर पीएसए कीट द्वारा परीक्षण किये जाने पर मानव वीर्य की उपस्थित के नकारात्मक परिणाम आये। उक्त समस्त तथ्यों एवं मुस्तगीसा द्वारा बताई परिस्थितियों से मामला संदिग्ध होना प्रतीत प्रतीत हुआ। जिस पर मुकदमा मुस्तगीसा रवि यादव से गहनता से पूछताछ की गई, जिस पर सामने आया कि मुकदमा मुस्तगीसा, जीजा रवि यादव कथित जीजा ने दीपक मीना के साथ मिलकर योजना बनाई कि राजस्थान में चलकर हम किसी को बलात्कार ऐसा करने में फँसाएगे। जिसमे दीपक मीना किसी पार्टी को दिल्ली से बुलायेंगे और मौके पर ही अपन सैटलमेन्ट करेंगे जिस पर हमको 1.50 से 2 लाख रुपये मिल जायेंगे। जिसको अपन तीनो बराबर बाँट लेंगे। इसी क्रम में दोनों आरोपीगण टैम्पो से अलवर आ गये। जहाँ पर दो तीन दिन तक इधर उधर भर्तहरी, तालवृक्ष व 08.09.21 को सुबह 11-11.30 बजे दीपक मीना रामपुर ने फोन कर रवि यादव को कहा कि एक पार्टी है। जिसको फँसाना है। जिसके साथ मै आउगा और बताया कि परिवादिया को सिलीसेढ तिराये से कुछ आगे छोड देना और वह पैदल पैदल चलती रहेगी। परिवादिया उनकी गाड़ी में बैठ जाएगी और उसको मै गाडी मे ही समझा दूँगा कि किसे टारगेट करना और मै खुद सीलीसेढ पाल की गेट पर उतर जाऊगा। इसके लगभग आधे घण्टे बाद रवि यादव मोटरसाईकिल लेकर उस गाड़ी तक जाएगा और टारगेट के साथ हाथापाई करेगा और कहेगा कि तुमने मेरी साली के साथ बलात्कार किया है और मै पुलिस बुला रहा हूँ जिस पर मै वहाँ पर आऊगा और सेटलमेन्ट की बात करूँगा। इसी क्रम में रवि यादव ने सिलिसेढ तिराये से कुछ आगे चलकर मुस्तगीसा को छोड़ दिया और साईड मे खड़ा होकर बीडी पीने लग गया और मुस्तगीसा पैदल पैदल चली गयी। फिर 10-15 मिनट के बाद एक एसेन्ट आई। जिसके न० डीएल 01 सी एए 7597 थे जिसमे चार लडके बैठे हुए थे। चार लड़को मे एक दीपक मीना था फिर गाड़ी में दीपक के कहे अनुसार मुस्तगीसा को गाडी मे बिठा दिया एवं दीपक मीना ने एक लाल टीशर्ट पहने हुए लड़के की तरफ इशारा कर बताया कि यही टारगेट है दीपक मीना और उसका एक साथी सिलिसेठ गेट पाल से पहले से उतर गये। योजना के अनुसार आधा घण्टे बाद रवि मोटरसाईकिल से रवाना होकर गया तो सीलीसेढ आरटीडीसी होटल से पहले चढाई मे वह कार साईड में खड़ी थी और एक लडका बाहर खड़ा था और गाड़ी मे मुस्तगीसा और अजय जाटव योजना अनुसार संदिग्ध अवस्था में मिले। जिस पर रवि ने योजना के अनुसार उनसे झगड़ा कर लिया और कहा कि यह मेरी साली लगती है और तुमने इसके साथ बलात्कार किया है और 100 नम्बर पर कॉल कर दिये। जिस पर दीपक मीना भी सीलीसेढ पाल गेट से अन्दर आ गया और मामला सेटल करने के लिए एक लाख रुपये की माँग की। जिस पर दीपक प्रजापत एवं अजय कुमार के पास पैसे मौके पर नहीं होने के कारण उनका मोबाईल एवं कुछ कागजात अपने पास रख लिये और बाद में पुलिस आने पर रवि यादव व मुस्तगीसा ने थाना सदर पहुँचकर 376डी आईपीसी का मुकदमा दर्ज करा दिया।

You might also like