62 वर्षीय बुजुर्ग की कोरोना वैक्सीन लगने के दूसरे दिन मौत

कोटा (योगेश जोशी)। कोटा जिले के ग्रामीण बालू खेड़ा ग्राम पंचायत के देवली माझी थाना के गरमोड़ी गांव में 62 वर्षीय बुजुर्ग की वैक्सीन लगने के 20 घंटे बाद संदिग्ध मौत हो गई ।घटना गुरुवार सुबह की है, जब गांव में ही रहने वाले 62 वर्षीय बहादुर सिंह किसान ने चाय पीते पीते दम तोड़ दिया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवाया। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा हो पाएगा। दूसरी ओर परिजनों का आरोप है कि बहादुर ने बुधवार को 1:00 बजे पीएचसी बालूहेड़ा पर कोरोना वैक्सीन लगवाई थी, उसके बाद से ही उसकी तबीयत खराब हुई है और रात को भी चक्कर आए थे।

परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार, बहादुर गुरुवार सुबह सो कर उठा, तो उसे चक्कर आने लगे. परिजनों ने उसे चाय दी जिसके बाद वह चाय पीते पीते ​नीचे गिर गया, जिससे उसकी मौत हो गई। परिजनों का कहना है कि बहादुर को किसी तरह की कोई बीमारी नहीं थी। देवली माझी थाना के एसएचओ राम अवतार शर्मा का कहना है कि मौत की सूचना पर वह मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली. शव का पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड से करवाया गया है।

मामले में वैक्सीनेशन के प्रभारी डॉ. सौरभ शर्मा का कहना है कि वैक्सीन से इस तरह का कोई रिएक्शन नहीं होता है क्योंकि, बुजुर्ग को वैक्सीन लगी थी, उसके बाद उन्हें आधे घंटे पीएचसी पर ऑब्जरवेशन में रखा गया था जहां पर मैं पर्णतया स्वस्थ थेऔर रात को भी वह स्वस्थ थे। उन्होंने रात को खाना खाया था, लेकिन सुबह चाय लेते ही अचेत होकर गिरे हैं, इस मामले में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया गया है उसके बाद ही मौत के वास्तविक कारणों का पता चलेगा। डॉक्टर का कहना है कि प्रथम दृष्टया बहादुर सिंह की मौत हार्ट अटैक या स्ट्रोक के कारण हुई लगता है।

You might also like