कोषालय – उपकोषालय समाप्त किए जाने का विरोध

एसोसिएशन ने कलेक्टर को सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

झुंझुनू ( जय जांगिड़ ) । राज्य सरकार द्वारा कोषालय, उप कोषालय, पेंशन एवं अंकेक्षण जैसे विभाग बंद किए जाने के संबंध में प्राप्त सूचना पर राजस्थान अकाउंट्स सर्विस के कार्मिकों में विरोध शुरू हो गया है।इन कार्मिकों ने बुधवार को राजस्थान अकाउंटेंट एसोसिएशन झुंझुनू के बैनर तले जिला कलेक्टर लक्ष्मण सिंह कुड़ी को तथा तहसील लेवल पर उपखंड अधिकारी को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम ज्ञापन सौंपे।जिला अध्यक्ष प्रभुदयाल सिंह के निर्देशानुसार जिला महामंत्री जयप्रकाश सैनी के नेतृत्व में संगठन पदाधिकारी, प्रांतीय प्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में विभिन्न राजकीय विभागों के अधीनस्थ लेखाकर्मियों व अधिकारियों ने कलेक्ट्रेट पर एकत्रित हो कोषालय /उपकोषालय, आंतरिक जांच विभाग जैसे महत्त्वपूर्ण विभागों को समाप्त किये जाने का विरोध किया ।

जिला महामंत्री जयप्रकाश सैनी ने कहा कि निरीक्षण एवं अंकेक्षण विभाग में पदस्थापित दक्ष लेखाकर्मियों द्वारा शासकीय कार्यों में करोड़ों रुपए के गबन पकड़ कर वसूली करवाने वालों के स्थान पर उक्त कार्य में निजी लोगों को संविदा पर शामिल कर लेखाकर्मियों को सीमित किये जाने की कोशिश की जा रही है।

इस तरह के राजकीय निर्णयों के विरोध में मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया सैनी ने कहा की सरकार का उक्त निर्णय न सिर्फ लेखा संवर्ग के हितों के साथ कुठाराघात है बल्कि इससे अनियमित भुगतान एवं भ्रष्टाचार को भी बढ़ावा मिलेगा।कोषाध्यक्ष जुगल सिंह शेखावत, प्रांतिय प्रतिनिधि शिवशंकर, सोनिया भाम्बू , सचिव शिशुपाल सिरोहा, उपाध्यक्ष अवनीश, बलदेव थलिया, नवदीप, बाबुलाल जांगिड़, जगदीश नायक, आशाराम, रविंद्र कुमार, संदीप कुमार, मोहित ,जितेंद्र ,महेंद्र कुमार ,महेंद्र गुर्जर,नीरू,पुष्पा व अन्य लेखा कर्मी उपस्थित रहे। उपखंड स्तर पर भी विरोध जिलाध्यक्ष के निर्देशों के क्रम में जिले के नवलगढ़ , खेतड़ी ,उदयपुरवाटी , चिड़ावा , सिंघाना , बुहाना , मलसीसर , मंडावा , सूरजगढ़ आदि जगह उपखंड अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन प्रस्तुत कर विरोध प्रदर्शित किया गया।

You might also like
You cannot print contents of this website.